Live24.co
Best News Portel In India

योगी जी…मीट प्लांट की ‘बीमारी’ से दिलाइए निजात

प्रदूषण का ग्राफ बढ़ने से लोगों को जानलेवा बीमारियों ने जकड़ा

- Advertisement -

फिर एक बार प्लांट बंद करने की उठी मांग, पीएम व सीएम को भेजा मेल

कैराना। क्षेत्र में बीमारियां बांट रहे मीट प्लांट के खिलाफ एक बार फिर आवाज बुलंद हुई है। आरोप है कि प्लांट में हड्डी एवं चर्बी जलाई जाती है, जहां से निकलने वाले धुएं से वायु प्रदूषण बढ़ रहा है। यही कारण है कि लोगों को जानलेवा बीमारियों ने जकड़ लिया है। सभासद पुत्र ने पीएम व सीएम को पत्र भेजकर मीट प्लांट बंद किए जाने की मांग की है।

   नगर के मोहल्ला छड़ियान वार्ड-10 के पालिका के सभासद राशिद उर्फ पोती के पुत्र सलमान राशिद कुरैशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्याथ को मेल भेजा है। कहा गया है कि कैराना के कांधला रोड पर मीम एग्रो फूड्स प्राईवेट लिमिटेड स्थित है। इस मीट प्लांट से प्रदूषण का ग्राफ बढ़ रहा है। आरोप है कि रात के समय में प्लांट में पशुओं की हड्डी व चर्बी जलाई जाती है, जिस कारण वायु प्रदूषण दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। आलम यह है कि लोगों को सांस लेने में भी दिक्कतें पैदा हो रही है। प्रदूषण के कारण लोग कैंसर, काला पीलिया जैसी जानलेवा बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। मामूली हवा चलने पर लोगों का दुर्गंध से जीना मुहाल हो गया है। युवक का कहना है कि वह कई जिला प्रशासन से शिकायत कर चुका है, लेकिन आज तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई है। यह भी कहा है कि सीएम के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। इस कारण जनता बेहद परेशान हैं। युवक ने मीट प्लांट को बंद कराये जाने की मांग की है।

- Advertisement -

सियासी दखलअंदाजी बनी अड्चन

सूबे में सत्ता हासिल करने वाली योगी सरकार ने अवैध बूचड़खानों पर शिकंजा कसा था, जिसके बाद मार्च 2017 में कैराना का मीट प्लांट भी सील कर दिया गया था। इसके कुछ दिनों बाद ही फिर से मीट प्लांट का संचालन शुरू हो गया। मीट प्लांट के संचालन में कहीं न कहीं सियासी दखलअंदाजी भी कही जाती रही है। यही कारण हैं कि घनी आबादी के बीच में संचालित होने के बावजूद मीट प्लांट पर प्रभावी कार्रवाई में अड्चनें आती है या फिर कार्रवाई होती भी है तो फिर से इसका संचालन बड़े पैमाने पर शुरू हो जाता है।

व्हाट्सअप से भी करेंगे संघर्ष

सलमान राशिद कुरैशी ने पीएम और सीएम को मेल भेजकर शिकायत करने के साथ ही मीट प्लांट को बंद कराने का बीड़ा उठाया है। इसके लिए उन्होंने अलग से एक व्हाट्सअप ग्रुप भी बनाया है, जिसमें लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया जा रहा है। इस ग्रुप पर मीट प्लांट के खिलाफ आंदोलन को मजबूती देने की चर्चाएं भी हो रही हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More