शामली पुलिस की गोलियों का निशाना बना जेल से भागा कैदी

शामली पुलिस की गोलियों का निशाना बना जेल से भागा कैदी
शामली पुलिस की गोलियों का निशाना बना जेल से भागा कैदी
शामली पुलिस की गोलियों का निशाना बना जेल से भागा कैदी

एक बार फिर अपराधियों पर भारी पड़ी थानाभवन पुलिस की सक्रियता
मुठभेड़ के बाद मुजफ्फरनगर जेल से फरार कैदी गिरफ्तार, सिपाही भी घायल 

थानाभवन(पंकज उपाध्याय)।  भारी सुरक्षा इंतजामातों को धत्ता बताकर मुजफ्फरनगर जेल से फरार हुए कैदी का शामली पुलिस ने गोलियों से स्वागत किया। शामली पुलिस से हुई मुठभेड़ में फरार कैदी को गोली लगने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि उसका एक साथी मौके से फरार हो गया। मुठभेड़ में हाथ में गोली लगने से एक पुलिसकर्मी भी घायल हुआ है।
  पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ की वारदात रविवार रात 10 बजे की है। थानाभवन—मुजफ्फरनगर मार्ग पर कादगढ़ चौकी के पास पुलिस टीम चेकिंग कर रही थी। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि दो संदिग्ध बाइक पर सवार होकर मुजफ्फरनगर से थानाभवन की ओर आ रहे है। मैसेज फ्लैश होने के बाद थानाभवन पुलिस के साथ जनपद की स्वाट टीम भी हरकत में आ गई। थानाभवन पुलिस ने कादरगढ़ चैकपोस्ट पर बाइक सवारों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन बदमाशों ने बाइक को दौड़ा दिया। बैकअप टीमें आने पर पुलिस ने हसनपुर लुहारी के जंगलों में बाइक सवारों को घेर लिया। घेराबंदी के बाद बदमाश नांगल गांव की ओर भागने लगे। हड़बड़ाहट में बदमाशों की बाइक फिसल गई। इसके बाद दोनों बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जबकि दूसरा अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला। बदमाशों की फायरिंग में अंकित नाम का सिपाही भी हाथ में गोली लगने से घायल हो गया। पुलिस ने घायल बदमाश से पूछताछ की, तो वह दो दिन पूर्व मुजफ्फरनगर जेल से फरार हुआ कैदी दिलशाद निकला। पूछताछ में घायल बदमाश के रूप में अपने साथी कल्लू का नाम बताया। इसके बाद पुलिस ने घायल बदमाश और पुलिसकर्मी को उपचार के लिए थानाभवन स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।    

मुजफ्फरनगर जेल से ऐसे भागा था दिलशाद 
थानाभवन के मोहल्ल शाहलाल निवासी दिलशाद उर्फ निन्ना पुत्र नियामत अली को शामली पुलिस ने 26 मई को तमंचे के साथ गिरफ्तार कर जेल भेजा था। वह मुजफ्फरनगर जिला कारागार में 11 नंबर बैरक में बंद था। शुक्रवार दोपहर में हुई गिनती में वह अनुपस्थित मिला था। आशंका जताई जा रही थी कि वह मिलाई करने आए लोगों के साथ फरार हो गया था। इसके बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया था। उसकी गिरफ्तारी सुनिश्चित कराने के लिए शामली पुलिस को भी अलर्ट पर रखा गया था। 

हथियार बरामद, पुलिस को मिलेगा ईनाम 
मुठभेड़ के बाद सीओ थानाभवन सुरेंद्र यादव ने बताया कि घायल बदमाश के कब्जे से तमंचा, कारतूस भी बरामद कर लिए गए हैं।  फरार बदमाश की तलाश की जा रही है। सीओ ने बताया कि जेल से फरार कैदी की गिरफ्तारी पर 25 हजार रूपए का ईनाम रखा गया था। संबंधित टीमों को पुरस्कृत किया जाएगा।